Breaking

Albert Einstein : अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़े रोचक व् महत्वपूर्ण तथ्य

अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़े रोचक व् महत्वपूर्ण तथ्य / Albert Einstein Important Information (Facts) in Hindi


Albert Einstein Important Information (Facts) in Hindi
विश्व के महान वैज्ञानिकों में अल्बर्ट आइंस्टीन का नाम प्रमुखता से लिया जाता है. अल्बर्ट आइंस्टीन को विश्व के महानतम वैज्ञानिक न्यूटन की श्रेणी में रखा गया है क्युकी इन्होंने विश्व को कई महान अविष्कारों से रूबरू कराया.
अल्बर्ट आइंस्टीन ने साधारण रिलेटिविटी की थ्योरी का अविष्कार किया तथा विज्ञान के दर्शन शास्त्र पर भी इन्होंने कई रिसर्च की. अल्बर्ट आइंस्टीन ने विश्व में सबसे ज्यादा प्रसिद्धि द्रव्यमान - ऊर्जा के समीकरण सूत्र E=Mc2 के द्वारा पाई. यह भौतिक विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण समीकरण है तथा आज का द्रव्यमान ऊर्जा सिद्धांत इसी सूत्र पर टिका है.

अल्बर्ट आइंस्टीन को सन 1922 में नोबेल प्राइज से नवाजा गया था.आइंस्टीन ने लगभग 300 से भी अधिक वैज्ञानिक शोध पत्रों का प्रकाशन किया है.अल्बर्ट ने कई क्षेत्रों में अपना योगदान दिया जैसे – सापेक्ष ब्राह्मांड, कोशिकायों की गति, एक अणु वाले गैस का कवान्तक सिद्धांत तथा भौतिकी का ज्यमितिकरण सिदांत सहित 50 से भी अधिक शोध पत्रों और विज्ञान के ऊपर कई महत्वपूर्ण अविष्कार किये. उनके किये गए महान प्रयोगो को देख़ते हुए साल 1999 में टाइम्स पत्रिका ने उन्हें शताब्दी पुरुष घोषित किया था.



आपको जानकर हैरानी होगी इन महान वैज्ञानिक की याददाश्त बहुत निम्न श्रेणी की थी. अल्बर्ट आइंस्टीन अक्सर अपने घर का पता भूल जाया करते थे तथा इन्हें फोन नंबर भी याद नहीं रहते थे यहां तक कि अल्बर्ट अपना खुद का नंबर भी याद नहीं रख पाते थे. इनका मानना था जो चीज लिखी जा सकती है उसे याद क्यों रखा जाए. 
अल्बर्ट अक्सर अपने मित्रों के फोन नंबर तथा उनके घर के पत्ते अपनी पर्सनल डायरी में लिख लेते थे.इन्होंने अपना पर्सनल नंबर भी डायरी में लिख रखा था तथा जब भी कोई व्यक्ति अल्बर्ट से उनका पर्सनल नंबर जानना चाहता तो अल्बर्ट अक्सर अपनी डायरी में ढूंढ कर अपना फोन नंबर दिया करते हैं थे.

पूरा नाम     -   अल्बर्ट हेर्मन्न आइंस्टीन
जन्म          -   14 मार्च 1879
जन्मस्थान  -   जर्मनी 
पिता           -  हेर्मन्न आइंस्टीन
माता           -  पौलीन आइंस्टीन
पत्नी            -  मरिअक (पहली पत्नी), एलिशा लोवेन थाल (दूसरी पत्नी)
शिक्षा          -  ज्युरिच पॉलिटेक्निकल एकेडमी, स्विजरलैंड
कार्य           -   भौतकी


अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़े रोचक व् महत्वपूर्ण तथ्य

1. अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म जर्मनी में वुटेमबर्ग के एक यहूदी परिवार में हुआ. उनके पिता एक इंजीनियर और सेल्समैन थे. उनकी माता का नाम पौलीन आइंस्टीन था. हालाँकि आइंस्टीन को शुरू-शुरू में बोलने में कठिनाई होती थी, लेकिन वे पढाई में अव्वल थे. उनकी मातृभाषा जर्मन थी और बाद में उन्होंने इतालवी और अंग्रेजी भी सीखी.

2. जब आइंस्टीन का जन्म हुआ तब इनका सिर बहुत बड़ा था तथा इन्होंने 4 साल की उम्र तक बोलना भी शुरू नहीं किया था. लेकिन एक दिन जब 4 साल के आइंस्टीन अपने माता पिता के साथ रात के खाने पर बैठे थे तो उन्होंने अपनी 4 साल की चुप्पी तोड़ते हुए कहा था 'सूप बहुत गर्म है'.

3. अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज के दिनों में गणित व साइंस को छोड़कर शेष सभी विषयों में फेल हो जाया करते थे.

4. अल्बर्ट को सर्वप्रथम विज्ञान में रुचि 5 साल की उम्र में हुई जब उनके पिता ने उन्हें Compass लाकर दिया और अल्बर्ट Compass के रहस्य को सुलझाने का प्रयत्न करने लगे.

5. अल्बर्ट को एक बार उनके विचित्र व्यवहार के कारण स्कूल से निकाल दिया गया था.

6. अल्बर्ट आइंस्टीन स्कूल के दिनों में पढ़ाई में काफी कमजोर थे. एक बार उनके शिक्षक ने उन्हें 'Lazy Dog' तक कह डाला था.

7. आइंस्टीन ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें मोजे (जुराबे) पहनना पसंद नहीं है. जब इंटरव्यूवर ने इसका कारण जानना चाहा तो आइंस्टीन ने कहा अक्सर मेरे अंगूठे के कारण मोजे (जुराबे) में छिद्र हो जाते हैं इसीलिए मैंने मोजे (जुराबे) ही पहनना छोड़ दिया.

8. एक दिन अल्बर्ट आइंस्टीन भाषण देने जा रहे थे तो रास्ते में उनके ड्राइवर ने कहा कि आप का भाषण मैं इतनी बार सुन चुका हूं कि लोगों के सामने मैं ही आपका भाषण दे सकता हूं.यह सुनकर आइंस्टीन ने कहा 'ठीक है आज तुम ही भाषण देना' आइंस्टीन ने ड्राइवर की पोशाक पहनकर उसका स्थान ले लिया और अपना स्थान ड्राइवर को दे दिया.
जब भाषण की शुरुआत हुई तो ड्राइवर ने भाषण देना शुरु किया. ड्राइवर का भाषण बिल्कुल आइंस्टीन के जैसे ही था. ड्राइवर ने धुआंधार,आत्मविश्वास पूर्ण भाषण दिया. भाषण देने के बाद जब लोगों ने प्रश्न पूछने शुरू किए तो ड्राइवर पूरे आत्मविश्वास के साथ जवाब देने लगा. किंतु किसी एक कठिन प्रश्न पर ड्राइवर उलझ गया. इस पर ड्राइवर ने चतुर दिमाग लगाया और कहा 'इस प्रश्न का जवाब तो इतना सरल है कि मेरा ड्राइवर ही बता देगा' ऐसा कहकर उसने ड्राइवर वाली पोशाक पहने आइंस्टीन को जवाब देने के लिए खड़ा कर दिया.

9. आइंस्टीन समुद्री यात्रा करते समय वायलिन बजाना पसंद करते हैं लेकिन वह जब भी वायलिन बजाते थे तो अपने 'मोजे' उतार दिया करते थे.

10. अल्बर्ट आइंस्टीन को संगीत में काफी रुचि थी वह कभी कबार किचन में जाकर वायलिन बजाते थे और खाली समय में मोजार्ट का संगीत भी सुनते थे.

अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़े रोचक व् महत्वपूर्ण तथ्य

11. अल्बर्ट आइंस्टीन की याददाश्त कमजोर थी वह अक्सर अपने घर का पता व फोन नंबर भूल जाते थे.

12. अल्बर्ट आइंस्टीन को अपने वायलिन से काफी लगाव था बचपन से लेकर बुढ़ापे तक उनके पास एक ही वायलिन रहा.

13. अल्बर्ट आइंस्टीन का मानना था अगर आपको बढ़िया रिसर्च करनी है तो आपको 10 घंटे सोना होगा.

14. अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्मदिन 'जीनियस डे' के रूप में मनाया जाता है.

15.  आइंस्टीन जब विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे तब एक दिन उनके पास उनका एक छात्र आया और उनसे बोला " इस साल भी परीक्षा में वही प्रश्न आए" हैं जो पिछले साल के परीक्षा में आए थे". इस पर आइंस्टीन ने जवाब दिया हां लेकिन इस साल उन प्रश्नों के उत्तर बदल गए हैं.

16. E=Mc2 अल्बर्ट आइंस्टीन का विश्व में सबसे प्रसिद्ध आविष्कार है.


17. नाजी गतिविधियों के कारण अल्बर्ट आइंस्टीन को जर्मनी छोड़कर अमेरिका में शरण लेनी पड़ी थी.

18. आइंस्टीन ने अपने जीवन काल में सैकड़ों किताबें और लेख प्रकाशित किए. उन्होंने 300 से अधिक वैज्ञानिक तथा 150 से अधिक गैर वैज्ञानिक शोध प्रकाशित किए.

19. आइंस्टीन ने अपने जीवनकाल में कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त किए और 1922 में उन्हें भौतिकी में "सैद्धांतिक भौतिकी के लिए अपनी सेवाओं, और फोटोईक्लेक्ट्रिक प्रभाव के कानून की खोज के लिए" नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

20. जब लोग आइंस्टीन से उनकी प्रयोगशाला के बारे में पूछते थे तो वह केवल अपने सिर की ओर इशारा करके मुस्कुरा देते थे. एक विज्ञानिक ने उनसे, उनके सबसे प्रिय उपकरण के बारे में पूछा तो आइंस्टीन ने उसे अपना फाउंटेन पेन दिखाया. आइंस्टीन का कहना था कि दिमाग उनकी प्रयोगशाला है और फाउंटेन पेन उनका उपकरण.

18 अप्रैल 1955 के दिन इस महान वैज्ञानिक ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया.लेकिन इनके किए गए महान अविष्कारों के कारण आज विज्ञान के क्षेत्र में दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की हो रही है.

नोट : अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इसे ज्यादा से ज्यादा Share करें आपका किया गया एक शेयर GyaniMaster Team का हौसला बढ़ाने में अहम योगदान देता हैं. आप हमसे जुड़ने के लिए Free Email Subscribe करें और हमारे Facebook पेज को Follow करें.

ये भी जाने : 

विश्व विख्यात महान साइंटिस्ट स्टीफन हॉकिंग की प्रेरणादायक जीवनगाथा

जानें पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम से जुड़ी महत्वपूर्ण उपलब्धियां


No comments:

Post a Comment