Breaking

जाने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के महान विचार

 राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के महान विचार/ Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

 राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जिनका पूरा नाम 'मोहनदास करमचंद्र गांधी' जिन्हें    हम 'बापू' के नाम से भी जानते हैं.
 सत्य और अहिंसा की ऐसी मूरत जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य में भूचाल ला दिया      और जिन के अथक प्रयासों से 15 अगस्त 1947 के दिन भारत को आजादी मिली.
 आज हम आपसे इन्हीं महापुरुष के महान विचारों की जानकारी सांझा कर रहे      हैं.जिन्हे पढ़ कर आपको भी गर्व की अनुभूति होगी.
 तो चलिए जानते हैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 'बापू' के अनमोल विचार

1. अपने आप को पाने का सबसे सही तरीका यह है कि अपने आप को दूसरों की सेवा में खो दिया जाए.
महात्मा गांधी

2. ताकत दो प्रकार की होती है एक जो किसी को सजा के डर के रूप में मिलती है और दूसरी जो प्यार देकर मिलती है, प्यार से मिली ताकत हजार गुना ज्यादा होती है.   महात्मा गांधी

3. तुम मुझे बांध सकते हो, तुम मुझे यातनाएं दे सकते हो, तुम इस शरीर को खत्म भी कर सकते हो पर तुम मेरे विचारो को बांध नहीं सकते.    महात्मा गांधी

4. आपको इंसानियत पर से विश्वास नहीं खोना चाहिए. इंसानियत एक सागर की तरह है अगर कुछ बूंदें सागर में मैली हो तो पूरा सागर गंदा नहीं हो सकता.      महात्मा गांधी

5. कमजोर कभी माफी नहीं मांगते क्षमा करना तो ताकतवर व्यक्ति की विशेषता है.     महात्मा गांधी

6. स्वास्थ्य ही है, जो हमारा सही धन है. सोने और चांदी का मूल्य इसके सामने कुछ नहीं.    महात्मा गांधी

7.  जहां प्रेम है, वहां जीवन है.        महात्मा गांधी

8. कुछ करना है तो प्यार से करें या तो ना करें.    महात्मा गांधी

9. शक्ति शारीरिक क्षमता से नहीं आती यह अदम्य इच्छाशक्ति से आती है.    महात्मा गांधी

10. बेईमान मनुष्य अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है वह जो सोचता है वही बन जाता है.  महात्मा गांधी
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के महान विचार

11. केवल प्रसन्नता ही एकमात्र इत्र है, जिसे आप दूसरे पर छिड़कोगे तो उसकी कुछ बूंदे अवश्य ही आप पर गिरेंगी.

12. पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हंसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे और तब आप जीत जायेंगे.

13. ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो, ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो.

14. व्यक्ति की पहचान उसके कपड़ों से नहीं अपितु उसके चरित्र से जानी जाती है.

15. जो समय बचाते हैं वे धन बचाते हैं और बचाया हुआ धन कमाए हुए धन के बराबर है.

16.विश्वास करना एक गुण है और अविश्वास दुर्बलता की निशानी है.

17. हमेशा अपने विचारों, शब्दों, और कर्म में पूर्ण सामन्जय का लक्ष्य रखें हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें तब सब कुछ ठीक हो जाएगा.

18. जब तक गलती करने की स्वतंत्रता ना हो तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं.

19. मौन रहना सबसे शक्तिशाली भाषण है धीरे-धीरे दुनिया आपको सुनेगी.

20. किसी ना किसी रूप में पूंजी की आवश्यकता हमेशा रहेगी.


21. निरंतर विकास जीवन का नियम है और जो व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए हमेशा अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार रखने की कोशिश करता है वह खुद को गलत रस्ते पर ले जाता है.

22. जो भी चाहे अपने अंतरात्मा की आवाज सुन सकता है.वह सबके भीतर है.

23. मैं मरने के लिए तैयार हूं पर ऐसी कोई वजह नहीं है जिसके लिए में मरू.

24. सत्य और अहिंसा का जीवन ही मेरा संदेश है.

25. भगवान का कोई धर्म नहीं है.

26. पाप से घृणा करो पापी से प्रेम करो.

27. चलिए सुबह का पहला काम यह करें कि इस दिन के लिए संकल्प करें मैं दुनिया में किसी से नहीं डरूंगा.

28. देश की महानता और नैतिक प्रकृति को इस आधार पर आकर आँका जा सकता है कि वहां जानवरों से लोग कैसा व्यवहार करते हैं.

29. खुद वो बदलाव बनिए जो दुनिया में आप देखना चाहते हैं.

30. हम जिस की पूजा करते हैं उसी के समान हो जाते हैं.

31. शारीरिक उपवास के साथ-साथ मन का उपवास ना हो तो वह हानिकारक हो सकता है.

32. आप नरम तरीके से दुनिया को हिला सकते हैं.

नोट : अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे Share करना न भूले. हमसे जुड़ने के लिए आप GyaniMaster Page को फॉलो करे. आप हमसे Free Email Subscribe के जरिये भी जुड़ सकते है. 


ये भी जाने :

जाने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की महान जीवनगाथा व् प्रमुख आंदोलन


GyaniMaster.Com

Writer : Mr Aashish

No comments:

Post a Comment