Breaking

प्राचीन खगोल विज्ञान का उत्कृष्ट नमूना है यह स्मारक - जंतर मंतर (जयपुर) से जुडी रोचक जानकारी

जानें जंतर मंतर (जयपुर) से जुडी रोचक जानकारी / Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur in Hindi


Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur in Hindi
Jantar Mantar Jaipur in Hindi
भारत को खगोल विज्ञानं में कुछ वर्षो से नहीं से नहीं अपितु प्राचीन समय से ही महारत हासिल थी.खगोल विज्ञानं को समझने के लिए मध्यकाल में बनाई गई विशाल सरचनाएँ इसके पुख्ता सबूत है. उदाहरण के तोर पर जयपुर में बनाई गई सरचना जंतर मंतर (Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur) इसी और इशारा करती है.

यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शुमार जयपुर का जंतर- मंतर प्राचीन खगोल विज्ञानं का एक नायब नमूना है.इसे मध्यकाल क़ि खगोल वेधशाला कहाँ जाना बिलकुल सही है.

जयपुर के जंतर मंतर से जुडी रोचक जानकारी - Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur

Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur in Hindi
Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur

1. जयपुर में स्थित इस धरोहर का निर्माण संन 1728 में शुरू होकर 1738 में पूरा हुआ था. जंतर मंतर को जयपुर के राजा सवाई जय सिंह ने बनवाया था.

2. जंतर मंतर को बनाने का उद्देश्य अंतरिक्ष में होने वाली खगोलीय घटनाओं को जानने से संबंधित था. उदाहरण के तौर पर जंतर मंतर के द्वारा तारों की गति, समय की चाल, व् ग्रहो से संबंधित स्थिति को समझने के लिए इसका निर्माण किया गया था.

3. जंतर मंतर में खगोल विज्ञानं को समझने के लिए कुल 19 खगोल यंत्रो को बनाया गया था जो समय, ग्रहो इत्यादि क़ि जानकारी देते थे.

4. इन खगोल यंत्रों को देखने मात्र से ही ये एहसास हो जाता है क़ि भारत का मध्यकालिक खगोल विज्ञानं कितना अव्वल दर्जे का था.

5. राजा जयसिंह ने इस वेधशाला के निर्माण से पहले विश्व के कई देशों में अपनाई जाने वाली खगोल विधि का अनुसरण किया था. वे जानना चाहते थे क़ि विश्व खगोल विज्ञानं को लेकर किन तकनीकों का उपयोग करता है.

6. आपको जानकर हैरानी होगी सैकड़ो वर्ष गुजर जाने के बावजूद इस वेधशाला के सभी प्राचीन यन्त्र आज भी ठीक अवस्था में हैं.

7. जंतर मंतर में पथरो द्वारा बनाई गई सूर्य घड़ी (सम्राट यंत्र) विश्व की सबसे बड़ी पथर घड़ी है.

8. राजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने पूरे भारत में कुल 5 जंतर–मंतर बनवाएं थे जो क्रमश: दिल्ली, जयपुर, उज्जैन, वाराणसी और मथुरा में बनवाएं गए थे. आज इन 5 स्मारकों में सिर्फ दिल्ली व् जयपुर के जंतर मंतर ही ठीक अवस्था में है.

9. जयपुर का जंतर मंतर इन पांचो स्मारकों में सबसे बड़ा व् सबसे अधिक खगोलीय यंत्रो वाला स्मारक था.

10. जंतर मंतर में बनाया गया उन्नतांश यंत्र आकाश में पिंड के उन्नतांश और कोणीय ऊंचाई मापने के काम आता था.

11. जंतर मंतर को यूनेस्को द्वारा 1 अगस्त 2010 में विश्व की ऐतिहासिक धरोहर सूची में शामिल किया गया था.

12. जयपुर का ये स्मारक पुरातात्विक स्थल और पुरावशेष अधिनियम, 1961 के तहत संरक्षित क्या गया है.

13. जंतर का अर्थ है “साधन” और मंतर का अर्थ है “फॉर्मूला”, इसीलिये जंतर मंतर को “गिनने का साधन” कहा जाता है

14. यह स्मारक जयपुर शहर के सिटी पैलेस और हवा महल के पास बना हुआ है और इस स्मारक पर पर ऑटो रिक्सा द्वारा आसानी से पंहुचा जा सकता है.

15. हर साल हजारो देसी - विदेशी सैलानी इस स्मारक को देखने जयपुर आते है

नोट: अगर आपको 'जंतर मंतर (जयपुर) से जुडी रोचक जानकारी /Amazing Facts about Jantar Mantar Jaipur' लेख पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा Share करें. आपका किया गया एक शेयर GyaniMaster Team का हौसला बढ़ाने में अहम योगदान देता है. आप हमसे जुड़ने के लिए Free Email Subscribe और हमारे Facebook Page को फॉलो करें.

ये भी जानें : 



इस मकबरे में गूँजती है सात बार आवाज - जानें गोल गुम्बद से जुडी रोचक जानकारी

भारत की पहली रेलगाड़ी नहीं थी किसी अजूबे से कम - भारत की पहली रेलगाड़ी से जुडी रोचक जानकारी

India Top 5 Historical Places ! भारत के ये ऐतिहासिक स्थल है प्राचीन इंजीनियरिंग का बेहतरीन नमूना

No comments:

Post a Comment